मिक्स मसाला

आँखन देखी

चिट्ठा जगत के छाया कौशल से आँखें चार कीजिए इस स्तंभ में जहाँ बिखरेंगी नौसिखिये छायाकारों के चित्रों की चटकदार छटा। इस अंक में रसस्वादन करें जितेन्द्र चौधरी और अतुल अरोरा के कैमरों के कमाल का।

“]Hoover Dam

हवा में हिचकोले खाते उड़नखटोले से देखा विराट हूवर डैम। प्रेषकः अतुल अरोरा।


“]Prapat

जीवन के रेले सी बह निकली अविरल निरंतर धारा। प्रेषकः जितेन्द्र चौधरी।

मार्च की आबो हवा

“आबो हवा” है भारतीय भाषाओं के ब्लॉगजगत का बैरोमीटर। बात सिर्फ आंकड़ों की नहीं है, उद्देश्य है कि ब्लॉगिंग के क्षेत्र में भारतीय भाषाओं के बढ़ते कदमों कि आहट यहाँ सुनी जा सके।

  • बाँग्लाः 2 (भारतीय लेखक)
  • गुजरातीः 1
  • हिन्दीः 35+
  • कन्नड़ः ?
  • कश्मीरीः 1
  • मलयालमः 4+
  • मराठीः 5
  • उड़ियाः ?
  • पंजाबीः ?
  • सिंधीः 1
  • तमिलः 365+
  • तेलगूः ?

संकेतः + अर्थात संख्या ज़्यादा भी हो सकती है; ? अर्थात आंकड़े उपलब्ध नहीं

टिप्पणीयाँ अब बंद हैं।